Hyperhidrosis treatment through homeopathy

Hyperhidrosis (Excessive Sweating), treatment in homeopathy

शरीर से पसीना आना एक सामान्य प्रक्रिया है , परन्तु जब पसीना बहुत ज्यादा आने लगता है , तो इन्सान कही भी रहे कुछ भी करें यदि पसीना ज्यादा आये तो ये एक समस्या बन जाती हैं। मौसम चाहे गर्म हो या ठंडा हो पसीने की समस्या बनी रहती हैं । होमियोपैथी में इस समस्या से छुटकारा पाने के लिये कारगर दवाईयाँ उपलब्ध हैं ।

पसीना ज्यादा आने पर यह त्वचा संक्रमण का कारण बन सकता हैं , पसीना ज्यादा आने पर शारीरिक और मानसिक दोनों तरह से असहजता होती है , विशेषज्ञ बताते है की पसीना निकलने की कोई निश्चित सीमा या मात्र नहीं होती हैं, पसीना शरीर को नुकसान पहुचने वाले पर्दार्थो को बाहर निकालने का कार्य करता हैं । पसीना आने की प्रक्रिया का सम्बन्ध केवल बाहरी नही , आतंरिक भी हो सकता है। डर, चिंता व तनाव आदि में भी त्वचा से पसीना निकलता है , कई बार गर्मियों में ज्यादा पसीना निकलने पर निर्जलीकरण (dehydration ) का शिकार होना पड़ सकता हैं

दवाईयाँ :
होम्योपैथिक में ज्यादा पसीना आने पर आप Merc. Sol. 30 की 2-2 बुँदे दिन में 3 बार लें, इसके साथ Natr. Sulph 6x (Natrum Sulphuricum 6x) की 4-4 गोली दिन में 3 बार , इसके साथ Psoralea Cor. Q की 10-15 बुँदे दिन में 3 बार लें इन दवाओं को आप लगातार कुछ समय तक लेते रहेंगे तो आपका फायदा होगा

  • Merc. Sol 30 :  2-2 बुँदे 3 बार
  • Natr. Sulph 6x : 4-4 गोली 3 बार
  • Psoralia Cor Q : 10-15 बुँदे 3 बार

 

 

 

 

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *