Spread the love

रक्तदान को बनाये अपने जीवन का हिस्सा

रक्त दान महा दान ये पंक्ति आपने सुनी होगी. रक्तदान देकर किसी की जिंदगी को बचाना बहुत ही पूण्य का काम है.

रक्त यानि खून हमारे शरीर का बहुत उपयोगी तरल प्रदार्थ है. शरीर की कोशिकाओं में अवश्यक पोषक तत्व पहुचना और ऑक्सीजन पहुचना खून का काम है.
हर दिन खून की कमी से हजारो लोग अपनी जान गवा देते है.  इसलिए किसी की जान बचाने के लिए रक्त दान को महादान का दर्जा दिया जाता है.
एक औसत व्यक्ति के शरीर में १० यूनिट खून होता है. १ यूनिट खून ही रक्त दान में लिया जाता है.

१८ से ६० वर्ष की अगर आपकी आयु है तो आप रक्त दान कर सकत है.  इसमें आपको कोई ख़ास परेशानी का सामना नही करना पड़ता है.

(और पढ़े : कफ में खून आये तो बरते सावधानी )

अलग अलग उपलक्ष्य में रक्त दान शिविर लगाया जाता है.  जिसमे रक्त दाता स्वच्छा से रक्त दान करते है.  एक बार रक्त दान करके अप ३ लोगों की जिंदगी को बचा सकते है. सड़क दुर्घटना में कई लोगों की म्रत्यु खून की कमी से हो जाती है. कई लोग गम्भीर बिमारियों में खून की कमी से मर जाते है.

अगर हम ज्यादा से ज्यादा इस महादान पर ध्यान देंगे तो आने वाले समय में कई लोगों को बचाया जा सकता है.  यदि हम समय समय पर रक्त दान  करेंगे तो खून की कमी से होने वाली मौत का ग्राफ निचे आ जायेगा.

रक्त दान करने से लगभग ३ घंटे पहले पोष्टिक भोजन लें. रक्त दान से २ दिन पहले एल्कोहोल का सेवन न करें.
रक्त दान के बाद आपको कमजोरी आयेगी ये एक गलत धारणा है. इसलिए डरे नही कर के देखे अच्छा लगता है.

सिर्फ आप ही ऐसे व्यक्ति की जिंदगी बचा सकते है जिसको खून की जरूरत है. क्युकी खून को बनाया नही जा सकता.