Spread the love

अनिन्दा और होमियोपैथी | Insomnia and  Its Homeopathic management.

NIND NA AANE PAR UPCHAR

कई बात तनाव दूर करने के लिए हम एक शन्ति और सुखदायक स्थान ढूढ़ते है, जहाँ हम आराम से सो सके. स्वस्थ शरीर के लिए अच्छा आहार ही नही बल्कि अच्छी  नींद बहुत जरुरी है. शरीर में नींद की कमी से कई सारी समस्या आने लगती है. जिसमे बदन दर्द, सिर दर्द, तनाव आदि शामिल है.

(और पढे : होमियोपैथीक शैम्पू | बालों के लिए असरदार )

जब हमारे शरीर को आराम और नींद की जरूरत होती है और हम सो जाये तो शरीर भी तरोताजा महसूस करता है.
मन अशांत हो या प्राकर्तिक रूप से अशांति में भी होमियोपैथी आपको प्राकर्तिक नींद के तरीके प्रदान करती है.
तनाव एक रासायनिक, मानसिक, भावनात्मक और शारीरिक समस्या है. ये नसों को जकड लेता है. होमियोपैथी में नसों को शांत और तनाव के प्रभावों को कम करने की शक्ति है. इसलिए हम तनाव के लिए होम्योपैथिक उपचार को इनकार करें इसका कोई कारण नही है.

Consult Online

For Online Consultation call Or [email protected]

होमियोपैथी का दुष्प्रभाव रहित उपचार स्वस्थ जीवन शक्ति प्रदान करने के लिए उत्तम तरीके प्रदान करता है.

आज होगा पर्दाफाश, होम्योपैथिक दवाओ से जुडी भ्रान्तिया और सच

होमियोपैथी अपनाकर प्राकतिक नींद ले| अनिंद्रा गायब

अनिंद्रा के कारण अलग अलग  लक्षण रोगी में नजर आते है.
जैसे नींद आने पर घबराहट, डर, तनाव, चिंता, थकान, नींद में सांस अटकाना, बैचनी आदि.
अलग अलग लक्षणों के आधार पर अलग अलग दवाए रोगी को दी जाती है.

क्या आपके कमर में दर्द है? कैसे होगा इस दर्द का निदान? क्या है कारण?

नींद न आने पर या अनिंद्रा पर होमियोपैथी की कुछ मुख्य दवाए है:

कोफ्फ़ा क्रुडा (Coffea Cruda 30) इसे १०-१५ दिन तक ही लेना है. इसके बाद पस्सिफ्लोरा इन्कारनाता (Passiflora Incarnata) की १५ से २० बुँदे आधे कप पानी में मिला कर खाना खाने के बाद लें. और साथ में स्लीप्तिते (Sleeptite) टेबलेट की दो गोली सवेरे, दो गोली दिन में और दो गोली शाम को लें.
इन दवाओं का सेवन करे. पर बेहतर होगा की आप होम्योपैथिक डॉक्टर से परामर्श लें.
विजिट करें साहस होम्योपैथिक क्लिनिक कालाढूंगी रोग, सत्यनारायण मंदिर के समीप हल्द्वानी, नैनीताल.