Lipoma treatment by Homeopathy,

त्वचा के भीतर हुए फोड़े की तरह दिखने वाला या सामान्य, सी उभरी हुयी गाँठ को ही लिपोमा कहा जाता हैं , या इसे चर्बी वाली गाँठ भी कहा जाता हैं । आमतौर पर यह एक स्थान पर होती हैं तो इस पर गौर भी नहीं किया जाता हैं । यह शरीर के किसी भी हिस्से पर हो सकती हैं ,इन गांठो में दर्द तो नहीं होता है परन्तु इन्हे स्किन के अंदर महसूस किया जा सकता हैं। कई बार यह रबर की तरह सॉफ्ट होते है जो हाथ लगाने पर अपनी जगह से थोड़ा इधर उधर हिलते है, परन्तु कई बार यह ठोस होते हैं। शरीर के किसी भी हिस्से पर यह गांठे हो तो इसका उपचार सिर्फ होमियोपैथी में सम्भव हैं। इनका आकर लगभग 1cm से 4cm तक कुछ भी हो सकता हैं

दवाईयाँ : इन गाँठो के लिए आप Acid Hydrofluorine 10m की 4 पुड़िया या 1/2 dram गोली भी ले सकते हैं, पुड़िया हैं तो पुड़ियों को आप 10 -10 मिनट के अंतर से खाये। अगले दिन से Calc Fluor 6x की 4 -4 गोली तीन बार , इसके साथ Silicea 6x की 4 -4 गोली तीन बार लें। इसके साथ Corium Q को आधे कप पानी के साथ 10 बुँदे सुबह , 10 बुँदे शाम को लेनी हैं। यदि, 90 दिन दवा लेने के बाद भी लिपोमा ठीक नहीं हुआ हैं तो आप 90 दिन के बाद Acid Hydrofluoric 10m की 4 पूड़ियाँ ले सकते हैं।
धन्यवाद

Acid Hydrofluorine 10m : 4 पुड़िया
Calc Fluor 6x : 4 -4 गोली , 3 बार
Silicea 6x : 4 -4 गोली , 3 बार
Conium Q : 10 -10 बुँदे , सुबह /शाम

 

—–

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *