Spread the love

कमजोरी का उपचार : Weakness Treatment

leucorrhoea treatment in Homeopathy

जिस तरह ज्यादा मोटा व्यक्ति किसी काम को करने में असमर्थ होता है , उसी प्रकार अधिक कमजोर व्यक्ति भी हर कार्य को नहीं कर सकते है । ज्यादा मोटा या ज्यादा पतला व्यक्ति केवल स्वस्थ की दृष्टि से ही हानिकारक नही है , परन्तु देखने में भी अच्छे नहीं लगते है.

आजकल अक्सर यह देखने में आता है की संम्पन परिवार का व्यक्ति भी मानसिक व शारीरिक थकान महसूसरता है, उसके पास सुख सुविधा और भोजन की कोई कमी नही होती परन्तु फिर भी वह अपनी सेहत पैसो से नही खरीद सकते है .

कमजोरी के कारण व्यक्ति कुछ भी काम करने में असमर्थ होताहै. बार बार थकान का अनुभव करने के कारण वो कोई भी काम अच्छे से नही कर पता.

कमजोरी शरीर को बेजान और बीमार सा बना देती है. खुशहाल जीवन के लिए शरीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ होना बहुत जरुरी है. पुरुष या स्त्री में कमजोरी हो तो ये विवाहिक जीवन पर भी असर डालता है. इसी तरह बच्चों में कमजोरी हो तो वो न अच्छे से खेल पाते है न ही पढाई कर पाते है.

कमजोरी  बच्चो में प्राय देखने में मिलती है, बच्चे थोडा थोडा बाहर का खाते रहते है जिस कारण उनका पेट भर जाता है और वह घर का खाना नही खा पाते इसी तरह धीरे धीरे उन्हें कमजोरी आते जाती है और कोई कोई तो ऐसा भी है जो कितना ही कुछ खाता पीता हो पर उनके शरीर में कुछ लगता ही नही है खेर, कारण कोई भी हो होम्योपैथिक में कमजोरी की दवा उपलब्ध है यदि समय पर इसका उपचार न कराया जाये तो आने वाले समय में और भी कई रोगों को जनम दे सकता है

कमजोरी को दूर करने के लिए जरुरी है पोषण युक्त आहार ही लें. बाहर का खाना खाने से बचे. सुबह उठ कर व्यायाम करने और योग करें.

चिकित्सा :

कमजोरी होने के कई कारण है. परन्तु होमियोपैथी में हर कारण का उपचार मौजूद है. इसलिए कमजोरी हो रही है तो नजदीकी होम्योपैथिक डॉक्टर से या साहस होम्योपैथिक में डॉ नवीन चन्द्र पाण्डेय जी से संपर्क करें.

Consult Online

For Online Consultation call Or [email protected]

साहस होमियोपैथी में ऑनलाइन परामर्श हेतु ७२४९९९९४०४ (7249999404) में संपर्क करे:

कमजोरी की होम्योपैथिक दवाए है :

Alfalpha Malt को 1-1 चम्मच 3 बार सुबह , दोपहर , शाम को खाना खाने के आधा कप पहले ले । आपको इससे जरुर फायदा होगा और अगर भूख नही लगती है तो भूख लगनी शुरू होगी और अगर खाना खाने के बाद भी शरीर में नही लगता है या कमजोरी होती है तो वो भी दूर हो जाएगी ।