Spread the love

जानवरों में भी कारीगर होम्योपैथिक दवा

होमियोपैथी की दवाए जानवरों के लिए

होम्योपैथिक दवाए इंसानों में बहुत कारीगर है. ये बात हम सब जानते है. लेकिन क्या आप जानते है की होमियोपैथी की दवाये जानवरों में भी असरदार होती है.
आज इस लेख में जानेंगे कैसे होम्योपैथिक दवा पालतू जानवरों पर असरदार होती है.
होमियोपैथी से कई प्रकार के पालतू पशुओं की बीमारी जड़ से खत्म होती है. पशुओं में होने वाली लम्बी बिमारियों में होमियोपैथी के शानदार परिणाम है.
गाय, भैस, कुत्ते, घोड़े , बिल्ली,आदि जानवरों के अनेको रोगों के लिए होमियोपैथी को अब काफी बढावा दिया जा रहा है.

एक तरफ सही दामो में आने वाली और दूसरी और बिना दुष्प्रभाव के सही सरल उपचार देने वाली होमियोपैथी पशुओ के कई रोगों में काम करती है.
पशुओं में होने वाला थनैला, बच्चेदानी का बाहर आना, गांठ, आदि रोग को ठीक करने में होमियोपैथी बहुत कारीगर है.

गाय के रोगों के लिए होमियोपैथी

गाय  पशु है जिसकी हिन्दू धर्म में पूजा की जाती है. और कई सारे घरों में गाय पाली भी जाती है. और कभी गाय बीमार पढ़ जाये तो कई बार बीमारी के बारे में हमे पता नही चल पाता.

डिलीवरी के समय अगर गाय को कोई समस्या आये तो होम्कीयोपैथिक दवा  pulstilla कारीगर है. इस दवा को जब  गाय की  डिलीवरी होते  समय बच्चा रुक जाये तो देना चाहिए.
कई लोग दूध का व्यापार करते है वो गाय या भैस पालते है. गाय दुधारू पशु है और गाय के दूध में कई सारे पोषण तत्व होते है. पर कभी कभी गाय  दूध कम देने लगती है, होमियोपैथी की Urtica Urens को इस अवस्था में बहुत उपयोगी पाया गया है.

कमर में दर्द का इलाज होमियोपैथी में है संभव 

इसी तरह कई होम्योपैथिक दवाए है जो जानवरों के लिए उपयोगी है. बस जरुरत है सही लक्षण पहचाने की.
सही लक्षणों के आधार पर होम्योपैथिक दवाए बहुत असरदार है .
अगर आपके पास भी कोई जानवर है या आप भी जानवरों को प्यार करते है, तो उनकी अस्वस्थ होने पर होम्योपैथिक डॉक्टर से का परामर्श जरुर ले.

ऑनलाइन परामर्श की जानकारी हेतु क्लिक करें