Spread the love

क्या मरते हुए व्यक्ति को बचा सकती है कोई दवा ?

क्या कोई ऐसा तरीका हो सकता है जिससे मरते हुए इंसान को भी प्राणदान दे दिए जाए. सुनने में असम्भव सा लगता है. सत्य भी है जिसका जीवन काल ख़तम हो चूका हो उसे कोई नही बचा सकता पर कई बार हमारी लापरवाही की वजह से ही किसी की या हमारी जान पर बन आती है.

(और पढ़े : कही आप तनाव में तो नही )

होमियोपैथी में एक ऐसी दवा जिसको संजीवनी बूटी का दर्जा दिया गया है. वैसे तो कई बार हम सुनते है की होमियोपैथी धीरे धीरे अपना काम करती है और रोग को बिना किसी दुष्प्रभाव के जड से खत्म कर देती है.
लेकिन ये दवा तुरंत ही अपना असर दिखाती है और इसके सेवन से कमजोर पड़ा आदमी में उठ खड़ा होता है.consult online
Carbo veg 200, ये होमियोपैथी की दवा है. करबो वेज,वनस्पति कोयला होता है. इसको कई लक्षणों पर रोगी को दिया जाता है.जैसे पेट में दर्द गैस, बदबू या सड़ने वाले जख्म को ठीक करता है. पुराने पेट के रोग, खट्टी डकार या किसी भी पुराने रोग में भी इस दवा को उपयोगी माना गया है.

(और पढे:  आँखों की समस्या के लिए घरेलु और होम्योपैथिक उपचार )

करबो वेग की तासीर गरम बताई गयी है.
बुढ़ापे में कमजोरी नसे फूलना आदि लक्षणों में भी करबो वेज को बहुत उपयोगी माना गया है.

करबो वेज सर्दी जुखाम,मौसम परिवर्तन के कारण कोई बीमारी में भी मुख्य रूप से उपयोग होता है.

इस दवा को घर पर रखे, किसी भी आपातकालीन स्थिति में आप इसे रोगी को दे सकते है.
आईये जानते है विडियो में डॉ नवीन चन्द्र पांडेयजी द्वारा कैसे रोगी को carbo veg दिया गया और वो ठीक होगया.